Daily Current Affairs

Death


A. Mohata

Former Chief Justice of the Odisha High Court V. A. Mohata passed in Nagpur. Mohata served as Chief Justice of the Odisha High Court from 28th September 1994 to 25th April 1995. He also recommended the name of current Chief Justice of India, Dipak Mishra as a judge.


निधन


वी.ए. मोहाता

ओडिशा उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश वी.ए. मोहाता का नागपुर में निधन हो गया। मोहाता 28 सितंबर, 1994 से 25 अप्रैल, 1995 तक ओडिशा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के पद पर कार्यरत थे। उन्होंने न्‍यायाधीश के रूप में भारत के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश, दीपक मिश्रा के नाम की भी सिफारिश की थी।


International


INDIA TO HOST INTERNATIONAL UNION OF FOOD SCIENCE AND TECHNOLOGY 2018

The International Union of Food Science and Technology (IUFoST), the global voice of food science and technology in association with Indian National Science Academy (INSA) as adhering body, announced the 19th edition of its prestigious global event to be held in Navi Mumbai, India from October 23-27, 2018. The five-day event will bring together researchers, academicians, professionals, policy makers and industry leaders from across the globe to showcase innovation, exchange breakthrough ideas and drive policy issues.

The focal theme for this edition of the prestigious congress is 25 Billion Meals a Day by 2025 with Healthy, Nutritious, Safe and Diverse Foods. IUFoST 2018 will provide insight on key concepts on recent advances in food sciences, food processing and agriculture technologies.


अन्तर्राष्ट्रीय


भारत अंतर्राष्‍ट्रीय खाद्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संघ 2018 की मेजबानी करेगा

IUFoST वर्ल्ड फूड साइंस एंड टेक्नोलॉजी कांग्रेस 2018 के 19वीं संस्करण का आयोजन 23 से 27 जुलाई 2018 को नवी मुंबई में होगा। IUFoST का अर्थ International Union of Food Science and Technology (खाद्य विज्ञान और प्रौद्योगिकी के अंतर्राष्ट्रीय संघ) है। 5-दिवसीय कार्यक्रम नवाचार, विनिमय विचारों और ड्राइव नीति के मुद्दों का आदान-प्रदान करने के लिए दुनिया भर के शोधकर्ताओं, शिक्षाविदों, पेशेवरों, नीति निर्माताओं और उद्योग के नेताओं को एक साथ लाएगा। इसकी थीम ’25 Billion Meals a Day by 2025 with Healthy, Nutritious, Safe and Diverse Foods’ है।IUFoST 2018 खाद्य विज्ञान, खाद्य प्रसंस्करण और कृषि प्रौद्योगिकियों में हालिया प्रगति पर महत्वपूर्ण अवधारणाओं पर अंतर्दृष्टि प्रदान करेगा।


National


CABINET APPROVES UMBRELLA SCHEMES FOR RELIEF AND REHABILITATION OF MIGRANTS AND REPATRIATES

The cabinet on Wednesday approved till 2020 eight schemes of home ministry for relief and rehabilitation of migrants under the umbrella scheme “Relief and Rehabilitation of Migrants and Repatriates”, including displaced families from Pakistan-administered Kashmir, Sri Lankan refugees, Bru families lodged in relief camps in Tripura, 1984 anti-Sikh riot victims, civilian victims of terrorist, communal and Maoist violence.

The schemes are as under:

  • Central Assistance for one-time settlement of displaced families from Pak Occupied Jammu and Kashmir (PoJK) and Chhamb settled in the State of Jammu & Kashmir.
  • Rehabilitation Package   and   up-gradation   of   infrastructure   of   the Bangladeshi Enclaves and Cooch Behar District after transfer of enclaves between India and Bangladesh under Land Boundary Agreement.
  • Relief assistance to Sri Lankan refugees staying in camps in Tamil Nadu and Odisha.
  • Grant-in-Aid to Central Tibetan Relief Committee (CTRC) for five years for administrative and social welfare expenses of Tibetan settlements.
  • Grant-in-Aid to Government of Tripura for maintenance of Brus lodged in relief camps of Tripura.
  • Rehabilitation of Bru/Reang families from Tripura to Mizoram.
  • Grant of enhanced relief of Rs. 00 lakh per deceased person, who died during 1984 Anti-Sikh Riots.
  • Central Scheme for Assistance to Civilian Victims/Family of Victims of Terrorist/Communal/LWE Violence and Cross Border Firing and Mine/IED blasts on Indian Territory’.

CABINET APPROVES TRIPURA AS MAHARAJA BIR BIKRAM MANIKYA KISHORE AIRPORT

The Union Cabinet, chaired by the Prime Minister, Shri Narendra Modi, today gave its approval to rename the Agartala Airport in Tripura as ‘Maharaja Bir Bikram Manikya Kishore Airport, Agartala. The decision comes in the wake of the long pending demand of people of Tripura as well as the Tripura Government for paying tribute to Maharaja Bir Bikram Manikya Kishore.

Who is Maharaja Bir Bikram Manikya Kishore?

  • Maharaja Bir Bikram Manikya Kishore, who ascended the throne of the erstwhile Tripura Princely State in 1923, was an enlightened and benevolent ruler.
  • Agartala Airport was constructed in 1942 on the land donated by Maharaja Bir Bikram Manikya Kishore.
  • As a visionary ruler, who had travelled extensively across the globe, he took several steps for the all-round development of Tripura.
  • Due to his initiative, an aerodrome at Agartalawas constructed that has evolved as the second busiest airport in the North East and provides crucial air connectivity to Tripura.
  • Hence, it is apt to rename the Agartala Airport after his name, which will be a befitting tribute to Maharaja Bir Bikram Manikya Kishore.

    राष्ट्रिय


    प्रवासियों और स्‍वदेश वापसी करने वाले लोगों के राहत और पुनर्वास की वृहत योजना को मंजूरी

    केंद्रीय मंत्रिमंडल ने प्रवासियों और स्‍वदेश वापसी करने वाले लोगों के राहत और पुनर्वास की वृहत योजना को बुधवार को मंजूरी प्रदान कर दी। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।‘प्रवासियों और स्‍वदेश वापसी करने वाले लोगों के ‘राहत व पुनर्वास’ की वृहत योजना के अंतर्गत गृह मंत्रालय की 8 वर्तमान योजनाओं को मार्च 2020 तक जारी रखने की मंजूरी दे दी गई है।

    ये योजनाएं निम्‍न हैं :

    • पाक अधिकृत जम्‍मू कश्‍मीर (पीओजेके) से विस्‍थापित परिवारों तथा जम्‍मू कश्‍मीर राज्य में निवास कर रहे चांब के पुनर्वास के लिए एकमुश्‍त केंद्रीय सहायता।
    • सीमा भूमि समझौते के अंतर्गत भारत और बांग्‍लादेश के बीच रिहायशी इलाकों के हस्‍तांतरण के पश्‍चात बांग्‍लादेशी व कूच बिहार जिले के रिहायशी इलाकों में पुनर्वास पैकेज तथा अवसंरचना का उन्‍नयन।
    • तमिलनाडु और ओडिशा के कैंपों में रह रहे श्रीलंकाई शरणार्थियों को राहत सहायता।
    • तिब्‍बती शरणस्‍थलों में प्रशासनिक और सामाजिक कल्‍याण के परिव्‍यय के लिए पांच वर्षों तक केंद्रीय तिब्‍बती राहत समिति (सीटीआरसी) को वित्‍तीय सहायता।
    • त्रिपुरा के राहत कैंपों में रह रहे ब्रुस के रख-रखाव के लिए त्रिपुरा सरकार को वित्‍तीय सहायता।
    • त्रिपुरा के ब्रुस/रियांग परिवारों का मिजोरम में पुनर्वास।
    • 1984 के सिक्‍ख विरोधी दंगों के मृतकों के लिए राहत राशि को बढ़ा कर पांच लाख रुपये किया गया।
    • आतंक/जा‍तीय हिंसा से पीडि़त तथा सीमा पार से होने वाली फायरिंग से पीडि़त और खान/आईईडी विस्‍फोट के पीडि़तों की सहायता के लिए केंद्रीय योजना।

    त्रिपुरा हवाई अड्डे का नाम बदलकर महाराजा बीर विक्रम माणिक्‍य किशोर हवाई अड्डा करने को मंत्रीमंडल की मंजूरी

    केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने त्रिपुरा के अगरतला हवाई अड्डे का नाम बदलने की मंजूरी दी है। महाराजा बीर विक्रम माणिक्‍य किशोर को श्रृद्धांज हवाई अड्डा अगरतला हवाई अड्डे का नाम “महाराजा बीर विक्रम माणिक्‍य किशोर हवाई अड्डा अगरतला” करने की मंजूरी दी।यह फैसला त्रिपुरा के लोगों की काफी लंबे समय से चली आ रही मांग और त्रिपुरा सरकार द्वारा महाराजा बीर विक्रम माणिक्‍य किशोर को श्रद्धांजलि देने के लिए किया गया है।

    कौन हैं ? महाराजा बीर विक्रम माणिक्‍य किशोर

    • महाराजा बीर विक्रम माणिक्‍य किशोर 1923 में त्रिपुरा राज्‍य के राजा बने।
    • वे एक विद्वान और विन्रम शासक थे।
    • महाराजा बीर विक्रम माणिक्‍य किशोर द्वारा दान में दिये गये जमीन पर 1942 में अगरतला हवाई अड्डे का निर्माण किया गया।
    • एक दूर दृष्टि वाले शासक के रूप में महाराजा ने पूरे विश्‍व की यात्रा की और त्रिपुरा के सर्वांगीण विकास के लिए काम किए।
    • राजा के प्रयासों से अगरतला में एक एरोड्रोम का निर्माण हुआ।
    • महाराजा बीर विक्रम माणिक्‍य किशोर के प्रति सच्‍ची श्रद्धांजलि के रूप में सरकार ने यह निर्णय लिया है।

      Science& Tech


    CENTURY’S LONGEST TOTAL LUNAR ECLIPSE TO BE SEEN ON 27TH JULY

    The longest total lunar eclipse of the 21st century would occur on July 27, with the celestial spectacle visible in its entirety from all parts of India. The eclipse will last for 1 hour and 43 minutes, giving viewers a wonderful opportunity to experience the happening, according to Debiprosad Duari, Director, Research & Academic, MP Birla Planetarium, Kolkata. It will be preceded and followed by partial eclipses lasting more than one hour.

    The eclipse will be visible in parts of South America, much of Africa, the Middle East and Central Asia. For viewers in India, the eclipse, both partial and the total, will be visible in its entirety from all parts of the country. The partial eclipse of the moon will start around 11.54 pm Indian Standard Time, with the total eclipse beginning at 1 am on July 28.the eclipse will last for about one hour and 43 minutes, the longest in the century, and will also feature a “blood moon”. “Blood moon” is a non-scientific term used to refer to the red tinge on a fully eclipsed moon. 

    What happens to the blood moon?

    • During lunar eclipse, the moon appears red, which is called blood moon or the blood moon.
    • In fact, when the moon remains in the shadow of the earth during the full moon’s lunar eclipse, its aura becomes redundant, which is called the ‘Ratakim Chandra’ or ‘Lal Chand’.
    • This happens when the moon is completely covered in the aura of the earth. In this case, the ‘red’ ray of the sun reaches the moon by ‘scatter’.

    Do You Know?

    • A lunar eclipse occurs when the Moon passes directly behind Earth and into its shadow. This can occur only when the Sun, Earth, and the Moon are aligned exactly or very closely so, with the planet in between.
    • Hence, a lunar eclipse can occur only on the night of a full moon.
    • The type and length of an eclipse depend on the Moon’s proximity to either node of its orbit.
    • During a total lunar eclipse, Earth completely blocks direct sunlight from reaching the Moon.
    • The only light reflected from the lunar surface has been refracted by Earth’s atmosphere.

      विज्ञानं एवं प्रद्योगिकी 


    27 जुलाई को दिखेगा 21वीं सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण

    27 जुलाई को इस सदी का सबसे लंबा चन्द्र ग्रहण दिखाई देगा. अधिकारियों ने बताया कि ग्रहण के दौरान चन्द्रमा करीब चार घंटे के लिए धरती की छाया में आ जाएगा. इस ग्रहण को कम से कम तीन महाद्वीपों में स्पष्ट रूप से देखा जा सकेगा. दुबई एस्ट्रोनॉमी ग्रुप के अनुसार, यह ग्रहण सदी का सबसे लंबा ग्रहण होगा जो करीब एक घंटे 43 मिनट का होगा.इस दौरान ‘ब्लड मून’ दिखेगा.

    क्‍या होता है ब्‍लड मून (Blood Moon)?

    • चंद्रग्रहण के दौरान चांद लाल दिखता है जिसे ब्लड मून अर्थात रक्तिम चांद कहा जाता है.
    • दरअसल, पूर्ण चंद्रग्रहण के दौरान चांद जब धरती की छाया में रहता है तो इसकी आभा रक्तिम हो जाती है जिसे रक्तिम चंद्र या लाल चांद कहते हैं.
    • ऐसा तब होता है जब चांद पूरी तरह से धरती की आभा में ढक जाता है. ऐसे में भी सूरज की ‘लाल’ किरणें ‘स्कैटर’ होकर चांद तक पहुंचती है.

    क्या आप जानते हैं?

    • चंद्रग्रहण उस खगोलीय स्थिति को कहते है जब चंद्रमा पृथ्वी के ठीक पीछे उसकी प्रच्छाया में आ जाता है।
    • ऐसा तभी हो सकता है जब सूर्य, पृथ्वी और चन्द्रमा इस क्रम में लगभग एक सीधी रेखा में अवस्थित हों।
    • इस ज्यामितीय प्रतिबंध के कारण चंद्रग्रहण केवल पूर्णिमा को घटित हो सकता है।
    • चंद्रग्रहण का प्रकार एवं अवधि चंद्र आसंधियों के सापेक्ष चंद्रमा की स्थिति पर निर्भर करते हैं।

      Sports


    AARON FINCH POSTS 172 RUNS FOR THE HIGHEST T20I SCORE

    Aaron Finch bettered his highest individual T20I score against Zimbabwe in the third T20 of the tri-series in Harare. When Finch departed, rather bizarrely by being hit wicket, he had become the highest run scorer in T20I. His knock of 172 runs from 76 balls with 16 fours and 10 sixes was laden with boundaries and records on the way. Finch also became the highest scoring captain in the format. However, Finch missed out by 4 runs in becoming the highest run scorer in the shortest format. Currently, Chris Gayle holds the record for the highest score in T20s with the West Indian scoring 175 runs in the 2013 Indian Premier League.


    खेल 


    एरोन फिंच ने टी-20 में अब तक का उच्‍चतम व्‍यक्‍तिगत स्‍कोर बनाया

    टी-20 क्रिकेट में एरॉन फिंच (172) द्वारा खेली गई अब तक सर्वोच्च व्यक्तिगत पारी और एंड्रयू टाई (3/12) की शानदार गेंदबाजी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने मेजबान जिम्बाब्वे को 100 रन से हराकर टी-20 त्रिकोणीय सीरीज में लगातार दूसरी जीत दर्ज की. ऑस्ट्रेलिया ने अपने पहले मैच में पाकिस्तान को पराजित किया था. फिंच ने 76 गेंदों पर 16 चौके और 10 छक्के लगाए. टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज द्वारा पारी में बनाया गया यह सर्वोच्च स्कोर है. इससे पहले यह रिकॉर्ड फिंच के ही नाम था. फिंच ने 2013 में इंग्लैंड के खिलाफ साउथैम्पटन में 156 रन की पारी खेली थी.’फिंच मैन ऑफ द मैच’ चुने गए.


     

July 16, 2018

0 responses on "Daily Current Affairs"

    Leave a Message

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Twitter

    Youtube

    X