Daily Current Affairs 10.05.2018


International


NIKOL PASHINYAN ELECTED AS NEW PRIME MINISTER OF ARMENIA

Nikol Pashinyan, who led the civil disobedience movement in Armenia for over a month against the corruption charges and ‘authoritarianism’ of Serzh Sargsyan, the erstwhile Prime Minister from the Republican Party of Armenia (RPA), has been given the charge of leading the country. A former editor and political prisoner, 42-year-old Pashinyan took over as Armenia’s interim Prime Minister on May 8. Pashinyan, a fiery political orator and former journalist, who had been the face of Armenia’s protest movements for the past decade, was elected in a 59-42 vote in Parliament, ending weeks of peaceful mass protests.

Do you Know?

  • Armenia is a country in the South Caucasus region of Eurasia. Located in West Asia on the Armenian Highlands.
  • it is bordered by Turkey to the west, Georgia to the north, the de facto independent Republic of Artsakh and Azerbaijan to the east, and Iran and Azerbaijan’s exclave of Nakhchivan to the south.
  • On 21 September 1991, Armenia officially declared its independence after the failed August coup in Moscow.
  • Levon Ter-Petrosyan was popularly elected the first President of the newly independent Republic of Armenia on 16 October
  • He had risen to prominence by leading the Karabakh movement for the unification of the Armenian-populated Nagorno-Karabakh.On 26 December 1991, the Soviet Union ceased to exist and Armenia’s independence was recognised.

अन्तराष्ट्रीय


निकोल पशिन्यां अर्मेनिया के प्रधानमंत्री बने

सर्ज सरगसान के इस्तीफे के बाद आर्मेनिया में प्रधान मंत्री का चुनाव हुआ जिसमे आर्मेनिया की संसद ने सिविल कॉन्ट्रैक्ट पार्टी के नेता निकोल पश्नीयन को एक नए प्रधान मंत्री के रूप में 59-42 वोटों से चुना। आर्मेनिया एक प्राचीन सांस्कृतिक विरासत के साथ एक एकता, बहु-पार्टी, लोकतांत्रिक राष्ट्र-राज्य है।

क्या आप जानते हैं?

  • आर्मीनिया (आर्मेनिया) पश्चिम एशिया और यूरोप के काकेशस क्षेत्र में स्थित एक पहाड़ी देश है जो चारों तरफ़ ज़मीन से घिरा है।
  • 1990 के पूर्व यह सोवियत संघ का एक अंग था जो एक राज्य के रूप में था।
  • सोवियत संघ में एक जनक्रान्ति एवं राज्यों के आजादी के संघर्ष के बाद आर्मीनिया को 23 अगस्त 1990 को स्वतंत्रता प्रदान कर दी गई,
  • परन्तु इसके स्थापना की घोषणा 21 सितंबर, 1991 को हुई एवं इसे अंतर्राष्ट्रीय मान्यता 25 दिसंबर को मिली।
  • इसकी राजधानी येरेवन है।
  • अर्मेनिया के प्रधान मंत्री सरकार के मुखिया हैं और सरकार की नीति के मुख्य निर्देशों को निर्धारित करने, सरकार की गतिविधियों का प्रबंधन करने और सरकार के सदस्यों के कार्य को समन्वयित करने के लिए संविधान द्वारा अधिकार प्राप्त है।

National


INDIA TO HOST 15TH ASIA MEDIA SUMMIT

India will host the 15th Asia Media Summit from today in which representatives from nearly 40 countries will discuss on issues related to the media sector. New Delhi is hosting the annual summit of the Asia-Pacific Institute for Broadcasting Development (AIBD) Kuala Lumpur for the first time.

Key Facts

  • The theme of the annual summit is “Telling our Stories- Asia and More”. It aims to provide unique opportunity for broadcasters in Asia to share their thoughts on broadcasting and information.
  • It will be attended by media professionals, scholars, policy makers and stakeholders of news and programming from Asia, Pacific, Africa, Europe, Middle East and North America will attend the annual conference.

About AIBD

  • AIDB is regional inter-governmental organisation servicing countries of United Nations Economic and Social Commission for Asia and the Pacific (UN-ESCAP) in field of electronic media development.
  • It was established in 1977 under auspices of UNESCO.
  • It is hosted by Government of Malaysia and its secretariat is located in Kuala Lumpur.

राष्ट्रिय


भारत 15वें एशिया मीडिया शिखर सम्‍मेलन की मेजबानी करेगा

10 मई 2018 से शुरू होने वाले तीन दिवसीय 15वें एशिया मीडिया शिखर सम्मेलन (एएमएस-2018) की मेजबानी भारत नई दिल्ली में करेगा। यह आयोजन 12 मई तक चलेगा। इस सम्मेलन का आयोजन सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारतीय जनसंचार संस्थान और बेसिल द्वारा संयुक्त रूप से किया जायेगा। भारत में पहली बार इसका आयोजन किया जा रहा है। इस सम्मेलन का उद्घाटन केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करेंगी। शिखर सम्मेलन एशिया क्षेत्र में प्रसारकों को साफ्टवेयर और हार्डवेयर क्षेत्र में अपने विचार सांझा करने का अनूठा अक्सर प्रदान करेंगा। इस शिखर सम्मेलन में लगभग 40 देशों के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे।

मुख्य तथ्य

  • वार्षिक शिखर सम्मेलन का विषय “Telling our Stories- Asia and More” है ।
  • इसका उद्देश्य प्रसारण और सूचना पर अपने विचार साझा करने के लिए एशिया में प्रसारकों के लिए अवसर प्रदान करना है।
  • इसमें मीडिया पेशेवरों, विद्वानों, नीति निर्माताओं और एशिया, प्रशांत, अफ्रीका, यूरोप, मध्य पूर्व और उत्तरी अमेरिका से समाचार और प्रोग्रामिंग से जुड़े लोगो द्वारा वार्षिक सम्मेलन में भाग लिया जाएगा।

एआईडीबी क्या है?

  • एआईडीबी एक क्षेत्रीय अंतर सरकारी संगठन है.
  • इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विकास के क्षेत्र में यह यूएन-एस्कैप देशों की सहायता करता है.
  • यूनेस्को के तहत वर्ष 1977 में इसे स्थापित किया गया था.
  • मलेशिया सरकार द्वारा इसे प्रसारित किया जाता है. इसका सचिवालय कुआलालंपुर में स्थित है.

Trade & Economy


NEPAL GRANTS A LICENSE TO INDIA’S SATLUJ JAL VIDYUT NIGAM LTD TO GENERATE POWER

Nepal has granted an Indian government-owned subsidiary the power generation licence from a 900-megawatt hydropower project, days ahead of Prime Minister Narendra Modi’s two-day visit to the country from May 11.

Key Facts

  • IBN also has granted several extensions for financial closure of the project. It includes local share and free energy to residents of affected area.
  • Nepal government will also receive benefits worth Rs. (Nepali) 348 billion from project as royalty, income tax, customs tariff and free energy in concession period of 25
  • The project will also provide 9% or 197MW s of the generated energy free of cost to Nepal.
  • Arun-3 Project is the largest capacity project in the history of hydroelectricity of Nepal, scheduled to be constructed within next five years on Arun river.

व्यापार एवं अर्थव्यवस्था


नेपाल ने विद्युत उत्‍पादन के लिए भारत के सतलुज जल विद्युत निगम लिमटेड को लाइसेंस प्रदान किया

नेपाल सरकार ने नेपाल में स्थित अरुण-3 जलविद्युत परियोजना के लिए भारतीय सरकार के स्वामित्व वाली सहायक कंपनी सतलुज जल विद्युत निगम लिमिटेड (एस.जे.वी.एन.एल) को विद्युत उत्पादन का लाइसेंस दिया है। नेपाल सरकार को 25 वर्ष की रियायती अवधि में रॉयल्टी, आयकर, सीमा शुल्क और नि:शुल्‍क ऊर्जा के रूप में परियोजना से 348 बिलियन नेपाली रुपये का लाभ मिलेगा। यह परियोजना नेपाल को उत्पन्न ऊर्जा की 9% (197 मेगावाट) ऊर्जा भी मुहैया कराएगी।

मुख्य तथ्य

  • निदेशक मंडल नेपाल (आईबीएन) ने परियोजना को वित्तीय रूप से बंद करने के लिए कई एक्सटेंशन भी दिए हैं।
  • इसमें प्रभावित क्षेत्र के निवासियों को स्थानीय शेयर और मुफ्त ऊर्जा प्रदान करना शामिल है।
  • नेपाल सरकार को 25 साल की रियायती अवधि में रॉयल्टी,आयकर, सीमाशुल्क और मुफ्त ऊर्जा के रूप में परियोजना से 348 अरब रुपये का लाभ भी मिलेगा।
  • यह परियोजना नेपाल को कुल उत्पन्न ऊर्जा का 21.9% या 197 मेगावाट मुफ्त में बिजली प्रदान करेगी।
  • अरुण -3 परियोजना नेपाल की सबसे बड़ी क्षमता वाली विद्युत परियोजना है।
  • इसे अरुण नदी पर अगले पांच वर्षों के भीतर बनाया जाना निर्धारित है।
  • यह एक निर्यात उन्मुख परियोजना है।
  • इसके अंतर्गत बिजली को भारत को बेचने की योजना है।

 

 

0 responses on "Daily Current Affairs 10.05.2018"

    Leave a Message

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Twitter

    Youtube

    X